अयोध्या में 8 मुस्लिमो ने हिन्दू धर्म में वापसी की

15 वर्ष पहले अपने हिंदू धर्म को छोड़कर इस्लाम धर्म को अपनाने वाले दो गांव के लोगों ने फिर से हिंदू धर्म को अपना लिया है। इन लोगों ने 15 वर्ष पहले इस्लाम धर्म अपनाया था, लेकिन अब फिर से इन लोगों ने हिंदू धर्म अपना लिया है। पूरी विधि-विधान के साथ मंदिर में भगवान के समक्ष इन लोगों ने इस्लाम धर्म को छोड़ कर हिंदू धर्म अपनाया। जलालपुर के आंबेडकर नगर तहसील क्षेत्र के दो गांवों के आठ लोगों ने मुस्लिम धर्म को छोड़ कर हिंदू धर्म को फिर से अपना लिया है।क्षेत्र के रामपुर दुबे गांव की शबनम परिवर्तित नाम सरोजा पत्नी बैजनाथ, नजमा परिवर्तित नाम शीला, मोहम्मद सफी परिवर्तित नाम बैजनाथ पुत्र मजनू, अकबर आलम परिवर्तित नाम अमित पुत्र बैजनाथ तथा जलालपुर थाना क्षेत्र के सोहगुपुर की सबीना परिवर्तित नाम सुरजा पत्नी प्रदीप कुमार, सकीना परिवर्तित नाम सीमा पुत्री प्रेमचंद, शाहजहां परिवर्तित नाम दुलारी पत्नी छब्बूलाल ने रविवार को जलालपुर थाना क्षेत्र के शीतला मठिया मंदिर पर पूरे विधि विधान के साथ हिन्दू धर्म को अपनाया।

पूर्व प्रांतीय अध्यक्ष, धर्म प्रचारक विश्व हिंदू परिषद के केशव प्रसाद श्रीवास्तव ने उक्त परिवारों को, जो 15 वर्ष पहले हिंदू धर्म को छोड़कर मुस्लिम धर्म अपना लिया था, उनको वैदिक रीति रिवाज के साथ नारियल, चुनरी, हनुमान चालीसा देकर घर वापसी कराई। साथ ही उनके उज्जवल भविष्य के लिए भगवान से प्रार्थन की। धर्म परिवर्तन करने वाले लोगों ने बातचीत के दौरान बताया कि उनपर किसी भी हिन्दू धर्म गुरु और हिन्दू समुदाय के लोगों द्वारा धर्म परिवर्तन के लिए किसी भी तरह का कोई दबाब नई था। उन्होंने अपनी मर्जी, और अपनी सहमति से इस्लाम को छोड़ हिन्दू अपनाया है।